विद्युत विभाग की लापरवाही से जल कर खाक हुई किसानों की पकी गेहूं की फसल

अग्निशमन विभाग ने दिखाई सुस्तता

0
236

मामला मेरठ के क्षेत्र हस्तिनापुर थाने का है जहां पर किसान अपनी मेहनत से अनाज पैदा कर रहे हैं लेकिन बिजली विभाग की लापरवाही से उनकी पकी फसल नष्ट हो रही है ।बिजली विभाग के द्वारा उनकी समस्या को अनदेखा कर दिन में ही ढीले तारों में विद्युत प्रवाह कर दी जाती है जिससे ढीले तार होने की वजह से हवा से वह आपस में टकरा जाते हैं और वहां पर चिंगारी उत्पन्न हो जाती है तथा गेहूं में गिरने के बाद गेहूं की फसल में आग लग जाती है जिससे कालू प्रधान के 10 एकड़ गेहूं बिजली के कारण लगी आग से स्वाहा हो गए और क्षेत्र के अन्य किसानों के भी अलग-अलग क्षेत्र में आग लगने के कारण गेहूं स्वाह हो गए हैं इसकी भरपाई के लिए क्षेत्र के किसानों ने बिजली घर का घेराव किया हुआ है और अपने हुए नुकसान की भरपाई के लिए अधिकारियों से बात करने के लिए बिजली घर पर जमा है।किसानों ने वहां पर धरना प्रदर्शन प्रारंभ किया। आग लगने के बाद उसको बुझाने के लिए जब फायर विभाग को कॉल की गई तो वह समय पर नहीं पहुंचे । इससे किसानों में भारी रोष है।आग लगने के बाद थाना इंचार्ज परविंदर सिंह ने मौके का मुआयना किया जहां पर उन्होंने पाया कि कालू प्रधान के लगभग 10 एकड़ से ज्यादा और अन्य के तीन चार एकड़ गेहूं की पकी फसल जलकर खाक हो गई है उन्होंने भीड़ को शांत किया किसानों को समझाया और बिजली घर पर नियुक्त अधिकारी को अपने कब्जे में लेकर थाने में ले गए और उचित कार्यवाही करने का आश्वासन दिया तब जाकर किसान शांत हुए जीवन सिंह गुरसेवक सिंह आदि किसान उपस्थित हुए। बिजली विभाग की इस लापरवाही से किसानों में बिजली विभाग के खिलाफ काफी रोष है।धरने में क्षेत्र के कालू प्रधान बंटी जीवन सिंह गुरु सेवक पंजाब सिंह मलके सिंह आदि उपस्थित किसान रहे ।

यह थी शाष्ट्रिप्रेस 24 के लिए गुरमीत सिंह की मेरठ से खास रिपोर्ट।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here