उत्तरप्रदेशएक्सक्लूसिवदुनियालेटेस्ट खबरें

लखीमपुर खीरी डीएम ने की ग्रामीण क्षेत्र में क्रियान्वित सर्विलांस अभियान की समीक्षा, दिए निर्देश

लखीमपुर खीरी से संवाददाता सर्वेश शुक्ला की रिपोर्ट

कोविड महामारी पर प्रभावी नियंत्रण हेतु ग्रामीण क्षेत्रों में 09 मई तक चलेगा डोर टू डोर सर्विलांस अभियान

कोविड रोग के प्रति सजगता, संभावित रोगियों के चिह्नीकरण, लक्षणयुक्त व्यक्तियों की जांच एवं तत्काल औषधि वितरण हेतु 09 मई तक ग्रामीण क्षेत्रों में चलेगा अभियान

लखीमपुर खीरी 06 मई 2021। गुरुवार को डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह ने जिले के प्रशासनिक व चिकित्सा अधिकारियों के साथ शासन के निर्देश पर जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में कोविड-19 रोग के प्रति सजगता, संभावित रोगियों के चिह्नीकरण, लक्षणयुक्त व्यक्तियों की जांच, आवश्यकतानुसार औषधि वितरण हेतु चलाए जा रहे व्यापक अभियान की समीक्षा की एवं संबंधित को आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

उन्होंने बताया कि जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में इस अभियान के  संचालन हेतु तैयार माइक्रोप्लान के तहत घर-घर भ्रमण हेतु गठित टीमें फील्ड में प्रातः 8:00 बजे से अपराहन 2:00 बजे तक एक्टिवेट होकर सौपे गए दायित्वों का निष्पादन करें।  उन्होंने सीएमओ को निर्देश दिए कि प्रत्येक टीम को मास्क, ग्लव्स, सेनीटाइजर पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध कराया जाए। कोविड-19 के विषय में संवेदीकरण, निकटवर्ती जांच व उपचार केंद्रों के विषय में जनसामान्य को जानकारी उपलब्ध कराई जाए।

उन्होंने बताया कि गठित टीम में लक्षणयुक्त व्यक्तियों की पहचान कर सूचीबद्ध करते हुए जांच हेतु निकटतम जांच केंद्रों पर भेजना सुनिश्चित करें। ऐसे लक्षण युक्त व्यक्ति जिन्हें खांसी बुखार इत्यादि के साथ सांस फूलने जैसे लक्षण प्रकट हो रहे हैं। परंतु अभी तक जांच नहीं हुई है और वह निकटवर्ती स्वास्थ्य केंद्र पर जाने में सक्षम भी नहीं है यथा अकेले रहने वाले वृद्ध ऐसे सभी व्यक्तियों को कोविड मेडिकल किट उपलब्ध कराई जाए। इस दौरान व्यक्तियों को एकीकृत कोविड-19 एंड कंट्रोल सेंटर के हेल्पलाइन नंबरों के बारे में जानकारी दी जाए। सभी 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लोगों को कोविड-19 की जानकारी प्रदान करते हुए टीकाकरण हेतु प्रेरित किया जाए।

सीडीओ अरविंद सिंह ने कहा कि सभी एमओआईसी लीडरशिप लेकर सभी लक्षण युक्त व्यक्तियों को अनिवार्य रूप से मेडिकल किट मुहैया कराएं।इस प्रकार हम वायरस के प्रारंभिक इन्क्यूबेशन साईकल को तोड़ सकते हैं। निगरानी समितियों को और अधिक एक्टिवेट करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि ग्रामीण स्तर पर अभियान के तहत होने वाली गतिविधियों का प्रशासन थर्ड पार्टी चेकिंग भी कराई जाएगी।

सीएमओ मनोज अग्रवाल ने बताया कि प्रत्येक पांच टीमों पर एक पर्यवेक्षक की तैनाती की गई।पर्यवेक्षक ब्लॉक स्तर पर रिपोर्ट तैयार कर जिला मुख्यालय भेजेंगे जिसे समेकित कर शाशन को प्रतिदिन की प्रगति से अवगत कराया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस अभियान के सफल क्रियान्वयन हेतु जिले में 3647 टीमों का गठन किया गया। जिसमें 7294 सदस्य एवं 595 पर्यवेक्षक शामिल है।

डीएम ने की वैक्सीनेशन की समीक्षा
वैक्सीनेशन की समीक्षा के दौरान डीएम ने निर्देश दिए कि सभी एमओआईसी वैक्सीनेशन के नियत लक्ष्य को शत प्रतिशत पूर्ण करें। जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ बलबीर सिंह वैक्सीनेशन की डेली मॉनिटरिंग करें। सभी एमओआईसी सुनिश्चित कराएं कि वैक्सीनेशन का वेस्टेज किसी भी दशा में न हो। प्रत्येक वाइल से दस व्यक्तियों का टीकाकरण करना होता है यदि 04 घंटे में इसे 10 लोगों को नहीं दिया गया तो शेष बची डोज़ खराब हो जाती है। इस संबंध मे एमओआईसी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर आने वाले व्यक्तियों को जागरूक करें व टीके का एक भी डोज़ बेकार न जाने पाए इसकी समुचित प्लानिंग करें।

Print Friendly, PDF & Email

Related Articles

error: Content is protected !!
Close